22 मई से देशभर में चलेंगी एक्सप्रेस, मेल स्पेशल ट्रेनें, सिर्फ ऑनलाइन बुकिंग, वेटिंग टिकट भी मिलेंगे

स्पेशल ट्रेन चलाने के बाद अब रेलवे मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें चलाने की तैयारी कर रहा है। साथ ही यात्री अब वेटिंग टिकट भी बुक करा सकेंगे। अभी तक यात्री स्पेशल ट्रेन में सफर के लिए सिर्फ कंफर्म टिकट ही बुक करा सकते थे। लेकिन 22 मई से चलने वाली ट्रेनों के लिए यात्री 15 मई से वेटिंग टिकट बुक करा सकेंगे। स्टेशनों पर टिकट बुकिंग काउंटर बंद रहेंगे और प्लेटफॉर्म टिकट सहित कोई काउंटर टिकट जारी नहीं किए जाएंगे। हालांकि रेलवे ने अभी ट्रेनों का शेड्यूल जारी नहीं किया है।

सफर करने वाले यात्रियों की संख्या निर्धारित
रेलवे ने यात्रियों की संख्या भी निर्धारित कर दी है। रेलवे के मुताबिक स्लीपर क्लास में 200, एसी चेयरकार और थर्ड एसी में 100, सेंकेड एसी में 50 लोग ही सफर कर सकेंगे। इसके अलावा एग्जीक्यूटिव क्लास के लिए 20-20 संख्या तय की है। रेल मंत्रालय की तरफ से कहा गया कि चार्ट के मुताबिक कंफर्म टिकट वाले यात्रियों को ही यात्रा की अनुमति दी जाएगी।

वेटिंग लिस्ट वाले यात्रियों को सफर की अनुमति नहीं
रेलवे भले ही आपको वेटिंग टिकट बुक कराने की अनुमति दे रहा है, लेकिन सिर्फ कंफर्म टिकट वाले व्यक्ति को ही यात्रा की अनुमति है। अधिकारियों ने बताया, वेटिंग लिस्ट वाले व्यक्ति को यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी। उन्हें उनके टिकट की पूरी कीमत वापस की जाएगी।

इन ट्रेनों में तत्काल या प्रीमियम तत्काल कोटा और वरिष्ठ नागरिक कोटा उपलब्ध नहीं होगा। आरएसी टिकट भी नहीं होंगे। किसी भी खाने पीने की चीज की कीमत को रेल किराए में शामिल नहीं किया गया है। प्रीपेड मील बुकिंग और ई-कैटरिंग की सुविधा उपलब्ध नहीं होगी। हालांकि, आईआरसीटीसी भुगतान करने पर कुछ सीमित खाने और पीने की चीजें उपलब्ध करा सकता है।

लक्षण होने पर रेल यात्रा रद्द हुई तो वापस मिलेंगे टिकट के पूरे पैसे
कोरोना वायरस के लक्षण होने के कारण जिन यात्रियों को ट्रेन में सफर करने की अनुमति नहीं दी जा रही, ऐसे लोगों को टिकट के पूरे पैसे लौटाए जाएंगे। सभी यात्रियों की अनिवार्य रूप से स्क्रीनिंग की जाएगी और केवल ऐसे लोगों को ही ट्रेन में यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी जिनमें बीमारी के कोई लक्षण नहीं होंगे।

आदेश में कहा गया है, ”अगर स्क्रीनिंग के दौरान यात्री के शरीर का तापमान अधिक है और कोरोना वायरस के लक्षण आदि हैं तो कंफर्म टिकट होने के बावजूद उसे यात्रा की अनुमति नहीं दी जाएगी. ऐसे मामले में यात्री को टिकट के पूरे पैसे लौटाए जाएंगे।”

अगर एक ही टिकट पर कई लोग यात्रा कर रहे हैं और एक यात्री को सफर करने के लिए अयोग्य पाया जाता है और वे सभी यात्रा नहीं करना चाहते तो उस टिकट का पूरा पैसा लौटाया जाएगा। इसी तरह, अगर एक यात्री के अयोग्य होने पर समूह के अन्य लोग यात्रा करना चाहते हैं तो केवल एक यात्री का किराया वापस किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *