घायल जवानों की सुध लेने की बजाय हवाई यात्रा में व्यस्त राजनाथ सिंह…… पुख्ता सुरक्षा के साये में चुनाव कराने के रमन के दावे हवा-हवाई: डॉ.महंत

खासखबर जांजगीर चाम्पा। नक्सल क्षेत्र में अपने जान पर खेल कर लोकतंत्र की रक्षा करते हुए बुधवार को छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले में चुनाव संपन्न करवाकर लौट रहे जवानों की पार्टी को नक्सलियों ने बारूदी सुरंग विस्फोट कर उड़ा दिया। इस घटना में 6 जवान बुरी तरह जख्मी हो गये । लोकतंत्र की रक्षा में लगे घायल जवानों को उच्च स्तरीय चिकित्सा सुविधा दिलाने के बजाय केंन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह छत्तीसगढ़ में हवाई यात्रा में व्यस्त रह कर मोदी और रमन सिंह के लिए झूठा राग अलापते चुनाव प्रचार में व्यस्त हैं।

छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी चुनाव प्रचार अभियान समिति के अध्यक्ष व सक्ती विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 35 के कांग्रेस प्रत्याशी डॉ. चरण दास मंहत ने सक्ती विधानसभा क्षेत्र में केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह द्वारा दिये गये बयान को झूठ का पुलिंदा बताते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी के साथ साढ़े चार साल के मंत्री कार्यकाल में वे भी झूठ बोलना सीख गये हैं। रही बात मेरे छत्तीसगढ़-मध्यप्रदेश और दिल्ली की यात्रा की तो कांग्रेस के विभिन्न जिम्मेदार पदों पर व संगठनात्मक कार्यों के कारण आना-जाना होता है और यह निरंतर जारी रहेगा। देश के गृहमंत्री द्वारा इस विषय पर दिये गये गैर जिम्मेदाराना बयान कि उन्हें तनिक भी उम्मीद नहीं थी। वैसे भी मोदी और उनके मंत्रिमंडल के सदस्य झूठे आरोप लगाने में माहिर हैं इसलिए उनके मंत्रिमंडल को ठग्स ऑफ मोदी कहा जा रहा है।

डॉ. महंत ने राजनाथ सिंह एवं बीते दिनों छत्तीसगढ़ प्रवास पर आए केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद के तय कार्यक्रम के बाद भी नक्सल क्षेत्र का दौरा स्थगित करने के मामलेे में तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में केन्द्रीय गृहमंत्री हवाई यात्रा में व्यस्त हैं और नक्सली लगातार वारदात करते रहे। बीजापुर के भोपालपटनम क्षेत्र से बीएसएफ 414 बटालियन के जवान चुनाव संपन्न कराकर 14 नवंबर को बीजापुर मुख्यालय लौट रहे थे जिन पर नक्सलियों ने बारूदी सुरंग विस्फोट कर वाहन को उड़ा दिया। इससे पूर्व 8 नवंबर को दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर बस को उड़ा दिया था जिसमें दो जवान शहीद हो गए व तीन आम नागरिकों की मौत हो गई । इस घटना केे कुछ घंटे बाद ही नक्सलियों ने कांग्रेस के चुनाव प्रचार टीम पर गोलियां बरसाई जिसमें झीरम घाटी के शहीद कांग्रेस नेता महेंद्र कर्मा के बेटे छविंद्र कर्मा व अन्य कांग्रेस जन बाल-बाल बचे। प्रथम चरण के मतदान दिवस 12 नवंबर को भी हमला करने से नक्सली बाज नहीं आए। अब जबकि चुनाव संपन्न कराकर जवान लौट रहे थे, तब उन पर भी नक्सलियों ने हमला किया। पूरी सुरक्षा के साथ चुनाव कराने के भाजपा सरकार के दावे इन हमलों के कारण हवा- हवाई ही सबित हुए हैं। इन हमलों में हमारे पुलिस और सीआरपीएफ के जवान शहीद व घायल हो रहे हैं । उनकी सुध लेने और उच्च स्तरीय चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराने की दिशा में ठोस प्रयास करने के बजाए केन्द्रीय गृहमंत्री छत्तीसगढ़ में मोदी और रमन सिंह के गुणगान का झूठा राग अलापते चुनाव प्रचार में व्यस्त हों, यह उचित प्रतीत नहीं होता। डॉ. मंहत ने कहा कि पहले तो भाजपा की छत्तीसगढ़ सरकार केन्द्र में अपनी सरकार नहीं होने का हवाला देती थी लेकिन अब तो केन्द्र व प्रदेश में दोनों जगह भाजपा की सरकार है, उसके बाद भी प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह व केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह नक्सल क्षेत्र में नक्सली वारदातों को रोकने में पूरी तरह विफल हो गये हंै।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *